Unlock-5: बिहार मे 15 सं सब किछू खुलत, मुदा किछू शर्तक संग

बिहार सरकार 15 अक्टूबर सं तमाम तरहक गतिविधिक सशर्त अनुमति द' देने अछि। पांच दिन बाद राज्य मे सामाजिक, शैक्षणिक, राजनीतिक, धार्मिक, खेल समेत अन्य गतिविधि शुरू भ' जायत। सरकार अहि गतिविधिक लेल शर्त तय करैत मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी क' देने अछि।

0
286

बिहार सरकार 15 अक्टूबर सं तमाम तरहक गतिविधिक सशर्त अनुमति द’ देने अछि। पांच दिन बाद राज्य मे सामाजिक, शैक्षणिक, राजनीतिक, धार्मिक, खेल समेत अन्य गतिविधि शुरू भ’ जायत। सरकार अहि गतिविधिक लेल शर्त तय करैत मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी क’ देने अछि। अहि गतिविधि पर कोरोना संकट कें कारण लॉकडाउनक समय सं रोक छल। याद रहय जे केन्द्र सरकार 30 सितम्बर कें अनलॉक-5 मे अहि गतिविधि सं संबंधित मानक संचालन प्रक्रिया जारी केने छल , जाहिमे राज्य सरकारक निर्णय लेबाक जिम्मेदारी देल गेल छल।

गृह विभागक आदेश कें अनुसार 15 अक्टूबर सं राज्य मे होबय वला कोनो कार्यक्रम कें आयोजन बंद स्थल संगहि खुलल मैदान मे सेहो भ’ सकैत अछि। बंद स्थल मे अधिकतम 200 व्यक्ति शामिल भ’ सकैत अछि। हॉल कें क्षमताक अनुसार 50 प्रतिशत धरी उपस्थितिक अनुमति रहत। हॉल मे एसी कें तापमान 24-30 डिग्री कें बीच रखय परत। आयोजक ई सुनिश्चित करता जे आगंतुक द्वारा छोड़ल गेल फेस मास्क, दस्ताना आदि ओतय पड़ा नहि रहय। ओकर समुचित तरीका सं निपटारा करय परत।

आरोग्य सेतु एप कें इस्तेमालक सलाह
कार्यक्रम वा सभा मैदान मे भेला पर जिला प्रशासन द्वारा मैदानक क्षमता कें ध्यान मे राखि क’ ओतय लोकक उपस्थितिक अनुमति देल जायत। व्यवस्था एहन होबय चाहि जे लोकक बीच सामाजिक दूरी बनल रहय। ई कम सं कम 6 फीट होबाक चाहि। सरकार हॉल आ मैदान मे होबय वला कोनो तरहक कार्यक्रम आ सभा मे आबय वला कें आरोग्य सेतु एप कें प्रयोग करबाक सलाह सेहो देने अछि।

दशहरा मे नहि लागत मेला, नहि बंटत प्रसाद
कोरोना संकट वा बिहार विधानसभा चुनावक बीच अहि बेर दुर्गापूजा आ दशहरा कें रौनक फीका रहत। दुर्गापूजा कें आयोजन खालि मंदिर आ घर मे होयत। नहि मेला लगत आ नहि सामूहिक रूप सं प्रसाद बांटल जा सकत। लाउडस्पीकर बजेबाक अनुमति नहि होयत। रामलीला कें आयोजन सेहो नहि होयत। सार्वजनिक स्थान पर रावण दहन कें सेहो अनुमति नहि देल गेल अछि।

आयोजन कें ल’ विशिष्ट दिशा-निर्देश कें मानय परत
गृह विभाग स्पष्ट केने अछि जे कही कोनो कार्यक्रम आ आयोजनक संबंध मे विशिष्ट दिशा-निर्देश जारी कयल जायत त’ ओहि गाइडलाइन केर मान्यता ई मानक संचालन प्रक्रिया सं ऊपर होयत। मतलब ओहि विशिष्ट दिशा-निर्देश कें मानय परत।

अहाँ अपन विचार लिखु

Please enter your comment!
Please enter your name here