Loan केर किस्त चुकाबय वला कें रिजर्व बैंकक उपहार, आब EMI कें बोझ होयत कम

0
48

कोरोना संकटक मध्य रिजर्व बैंक कें गवर्नर शक्तिकांत दास एकटा प्रेस कांफ्रेंस मे किछू एहन चीजक खुलासा केलनि अछि, जकर असर देशक अर्थव्‍यवस्‍था पर परत। अहाँके बता दी जे कोरोना संकटक बीच पिछला दु माह मे आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास कें ई तेसर प्रेस कॉफ्रेंस छोल। अहि सं पहिने 27 मार्च आ 17 अप्रैल कें सेहो ओ प्रेस कॉफ्रेंस क’ चुकल छथ। हुनकर प्रेस कांफ्रेंसक किछू अहम बात साब –

1. आरबीआई गवर्नर आशंका जातोलानि अछि जे चालू वित्तीय वर्षक जीडीपी ग्रोथ रेट नेगेटिव भो सकत अछि। आरबीआई मुताबिक कोरोना संकट कें बावजूद महंगाई दर 4 फीसद कें नीचा रहबाक संभावना जातोलानि।

2. रिजर्व बैंकक गवर्नर रेपो रेट मे 0.40 फीसदी कें कटौती केर एलान करैत, बैंक कें बड़का राहत देलनि। एकर असर आम लोक पर सेहो परत। ब्‍याज दर घटबाक फैसला सं होम लोन, कार लोन, पर्सनल लोन सहित सभ’ तरहक कर्ज पर ईएमआई सस्ता होयत। एकर अलावा आरबीआई रिवर्स रेपो रेट सेहो घटाको 3.35 फीसद को देने अछि।

3.आम लोक कें राहत दैत RBI टर्म लोन मोरटोरियम कें पाहिले ई 31 मई सं बढ़ाको 31 अगस्‍त तक को देल गेल अछि। आब ई सुविधा 6 महीना कें लेल भो गेल अछि। यदि अहि दौरान कोनो EMI नै चुका सकत त’ ओकरा लोन डिफॉल्ट या NPA कैटेगरी मे नै मानल जायत।

4. RBI गवर्नर उम्‍मीद जातोलानि जे देश कोरोना संकट सं जल्‍द उबर जायत। ओ इहो कहलनि जे कोरोनाक वजह सं देश कें आर्थिक नुकसान भेल अछि। ओतै भारत मे बिजली व पेट्रोलियम उत्पादक खपत आ सीमेंट उत्‍पादन मे गिरावट आयल अछि। एकर अलावा छह बड़का प्रदेश मे औद्योगिक उत्पादन गिरल अछि।

5. दास केर मुताबिक देश मे रबी कें फसल निक भेल अछि आ ई बेर सेहो बेहतर मॉनसून आ बेहतर फसल होबाक उम्‍मीद अछि। सं काफी उम्मीद अछि। हुनकर मुताबिक सरकार आ आरबीआई कें उठाओल गेल कदमक असर सेहो सितंबर कें बाद देखनाइ शुरू होयत।

6.एक्सपोर्ट क्रेडिट समय 12 महीना सं बढा क’ 15 माह केल गेल अछि। ओतै सिडबी कें 15000 करोड़ रुपया कें इस्तेमाल कें लेल 90 दिनक अतिरिक्त समय देल गेल अछि।