बिहारक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोशल मीडिया पर कयल जा रहल अपन सरकारक कथित तौर पर आलोचना कें ल’ नाराजगी जतोलानि। स्वतंत्रता दिवस पर झंडोत्तोलन केलाक बाद लगभग एक घंटाक संबोधन मे ओ विरोधि पर सेहो निशाना सधलनि।

मुख्यमंत्री नीतीश कहलनि जे- ‘घर मे बैसके किछो ट्वीट क’ देनाइ फैशन भ’ गेल अछि, ओ बिना जानने,कि उपलब्धि हासिल कयल गेल अछि। लोक कें हुनक उपलब्धि निक सं समझा लेल हुनकर सत्ता मे आबय सं पहिने राज्यक दयनीय हालत पर गौर करबाक चाहि। बेसीतर अपन युवा पीढ़ी कें ई जानबाक चाहि कि 15 वर्ष पहिने कें हालात केहन छल।’ कहलनि जे,- ‘हम अपन अधिकारि सं सेहो लगातार कहैत रहैत छी। गड्ढाक कारण सं शायद सड़क देखाइ दैत छल। बिजली आपूर्ति केर दयनीय स्थिति छल, जकरा बदलल गेल अछि।’

कोविड-19 संक्रमण सहित बाढि आ पुल कें संपर्क पथ कें ल’ कथित तौर पर मुद्दा बना क’ सोशल मीडिया मे बिहार सरकारक पर भ’ रहल आलोचना कें ल’ सीएम नीतीश अवगत छलाह। नेता प्रतिपक्ष सह राजद नेता तेजस्वी यादव, लोक जनशक्ति पार्टी प्रमुख चिराग पासवान, जपा नेता पप्पू यादव आ प्रशांत किशोर विभिन्न मुद्दा कें ल’ नीतीश सरकारक खिलाफ लगातार सोशल मीडिया पर एक्टिव छथि।

मुख्यमंत्री नीतीश अपन संबोधन मे शिक्षक केर नियुक्ति आ स्वास्थ्य विभाग मे नियुक्ति कें ल’ सेहो बात रखलनि। ओ कहलनि जे पंचायत आ नगर निकाय शिक्षक केर नव सेवा शर्त शीघ्र लागू कयल जायत। मुख्यमंत्री कहलनि जे शिक्षक केर बेहतर सेवा शर्त कें लेल नव नियमावली बनायल जा रहल अछि। एकरा शीघ्र लागू कयल जायत। शिक्षक कें कर्मचारी भविष्य निधि कें सेहो लाभ देल जायत।

एकरा सं पहिने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गांधी मैदान मे झंडोत्तोलन केलनि। एकरा बाद सीएम नीतीश मास्क लगा क’ 11 टुकड़ि केर परेडक सलामी लेलनि। कोरोना संक्रमणक कारण अहि बेर सिर्फ पासधारके गांधी मैदान समारोह मे पहुंचल। अहि बेर झांकि नहि निकलल। स्कूल-कॉलेज बंद अछि।

एकटा जबाब दिय

कृपया अहाँ कमेंट करू
कृपया एतय अहाँ अपन नाम लिखु