आरपीएफ़ पटनाक ओर सं आलमगंज मे छापेमारी मे बरामद चीज कें आब कोलकाता भेजल जायत। रेलवे कें कोलकाता स्थित साइबर सेल मे तकनीकी रूप सं टिकट दलालक दुकान सं बरामद उपकरणक जांच कराओल जायत। कंप्यूटर, हार्ड डिस्क, मोबाइल सहित अन्य तकनीकी उपकरणक जांच होयत।

तकनीकी रूप सं दक्ष इंजीनियर साइबर सेल मे सभ जानकारी कें निकालबाक प्रयास करत। ओतय फॉरेंसिक मे सेहो हार्ड डिस्क कें जांच कराओल जायत । पटना जंक्शन कें आरपीएफ पोस्ट कें इंस्पेक्टर वीके सिंहबतओलनि जे हार्ड डिस्क केर जांचक बाद इंजीनियर प्रोग्रामिंग आ कोडिंग सं पता लगाओत जे टिकट दलाल कून तरीका सं कारोबार करैत छल।अखन बरामद कैल सभ’ चीज कें सील क’ राखि देल गेल अछि। पटनाक स्टाफ दू दिनक भीतर कोलकाता स्थित साइबर सेल मे सभ’ उपकरण कें ल’ जायत।

पकड़ गेल टिकट दलाल मोहम्मद कासिफ जाकिर कें कारोबारक सच सामने आयत। ओकरा जेल भेज देल गेल अछि। आरपीएफ़ केर टीम साइबर सेल सं जानकारी मिलबाक बाद पता लगाओत जे टिकट दलाल कून सॉफ्टवेयर कें कतय सं खरीदने छल? संगहि आईआरसीटीसी केर वेबसाइट कें हैक करय वला सॉफ्टवेयर कें बनेलक आ टिकट दलालक पास कें खरीद बिक्री कोना होयत अछि। अहि पहलु पर सेहो आरपीएफ केर टीम जांच करत।

आरपीएफ़ पटना केर टीम बुधदिन 22 लाख सं बेसि मूल्यक टिकट कें संग पटना सिटी कें मोहम्मद कासिफ जाकिर कें पकड़ने छल। ओ बेकरी शॉप केर आड़ मे टिकट कें धंधा मे लागल छल।

एकटा जबाब दिय

कृपया अहाँ कमेंट करू
कृपया एतय अहाँ अपन नाम लिखु