बिहारक राजधानी पटना स्थित एम्स मे कोरोना वैक्सीन कें ट्रायल शुरू भेला एक महीना पूरा भ’ गेल अछि। पिछला चरण मे जाहि लोक पर ट्रायल भेल छल ओ पूर्ण तरहे स्वस्थ छथि। अर्थार्त हुनका पर अखन धरि कोनो साइड इफेक्ट नहि भेल अछि। अहि तरहे वैक्सीन त’ सुरक्षित अछि मुदा ई कोरोना वायरस सं लड़य मे कतेक असरदार अछि एकर विश्लेषण भेलाक बाद पता चलत।

पटना एम्स मे पहिल डोजक बाद एंटीबॉडी जांच कें लेल आईसीएमआर भेजल गेल । देश भरि मे सबसा पहिने पटना एम्स मे 15 जुलाई कें वैक्सीन ट्रायल शुरू भेल छल। कोरोना संक्रमण सं निजात पाबय लेल देश भरि कें अस्पताल समेत पटना एम्स मे जाहि लोक पर ट्रायल चैल रहल अछि। ओकर पहिल चरण अगस्त महीना कें अंत मे पूर्ण होयत।

देश भरि मे 375 लोक पर वैक्सीन ट्रायल चैल रहल अछि। जाहिमे पटना एम्स मे 46 लोक शामिल छथि। ट्रायल वैक्सीनक पहिल डोज देलाक 14 दिन बाद दूसर डोज 44 लोक कें देल गेल। पहिल चरण अगस्त महीना कें अंत मे पूर्ण होयत। जकरा बाद सभ’ 375 लोक पर ट्रायल कयल गेल वैक्सीनक विश्लेषण कयल जायत।

विश्लेषण मे वैक्सीनक असरदार होबाक जानकारी लेल जायत। अर्थार्त कोरोना वायरसक खिलाफ शरीर मे कते एंटीबॉडी बैन रहल अछि? जे एंटीबॉडी बनल अछि ओ मेंटेन अछि आ नै। एहन प्रमुख तथ्य केर जानकारी भेटबाक आ संतोषजनक रिपोर्ट होबय पर दूसर चरण कें ट्रायल शुरू होयत। अहि प्रकार दूसर चरण पूर्ण होबाक बाद फेर विश्लेषण होयत । अगर आईसीएमआर तेसर चरणक जरूरत समझत त’ तेसर चरण सेहो भ’ सकैत अछि मुदा बताओल जा रहल अछि जे ट्रायलक दू चरण पूर्ण केलक बाद वैक्सीन लेबाक योजना अछि। अहि प्रकार ई उम्मीद कयल जा रहल अछि वैक्सीन अहि सालक दिसंबर कें अंत धरि आ अगला साल जनवरी महीना मे भेट सकत।

पटना एम्स कें अधीक्षक डॉ. सीएम सिंह बतओलनि जे वैक्सीन ट्रायलक पहिल चरणक विश्लेषण रिपोर्ट कें इंतजार अछि। अखन धरि वैक्सीन सुरक्षित पायल गेल अछि। ई वैक्सीन कतेक असरदार अछि? एकर रिपोर्ट एनाइ बाकी अछि।

एकटा जबाब दिय

कृपया अहाँ कमेंट करू
कृपया एतय अहाँ अपन नाम लिखु