Surya Grahan 2020 : ज्‍योतिषाचार्य कें दावा- सूर्य ग्रहण कें बाद मिलत कोरोना सं राहत

साल 2020 कें पहिल सूर्यग्रहण आइ किछू घंटा बाद लागि रहल अछि। पटना केर बात करि त’ ई सुबह 10.37 बजे सं शुरू भ’ अपराह्न 02.04 बजे तक चलत। मुजफ्फरपुर मे ग्रहण कें काल सुबह 10.38 बजे सं अपराह्न 02.10 बज तक तथा भागलपुर मे सुबह 10.42 बजे अपराह्न 02.14 बजे तक रहत। ग्रहण शुरू होबय कें 12 घंटा पाहिले सूतक काल शुरू भेल।

साल 2020 कें पहिल सूर्यग्रहण आइ किछू घंटा बाद लागि रहल अछि। पटना केर बात करि त’ ई सुबह 10.37 बजे सं शुरू भ’ अपराह्न 02.04 बजे तक चलत। मुजफ्फरपुर मे ग्रहण कें काल सुबह 10.38 बजे सं अपराह्न 02.10 बज तक तथा भागलपुर मे सुबह 10.42 बजे अपराह्न 02.14 बजे तक रहत। ग्रहण शुरू होबय कें 12 घंटा पाहिले सूतक काल शुरू भेल। ई पूर्ण सूर्य ग्रहण अछि, जाहिमे केवल सूर्य कें गोलाकर भाग देखल जायत। एकरा ‘रिंग ऑफ फायर’ (Ring of Fire) कहैत अछि। अहि कारण सूर्य ग्रहण कें दौरान किछू देर कें लेल दिने मे अन्हार भ’ जायत अछि। जखन, बिहार मे सूर्यग्रहण पर मानसून कें ग्रहण लागल अछि। मेघ कें कारण ई नजारा बिहार मे देखल जायत, ऐना नै लागि रहल अछि।

सूर्यग्रहण की अछि, जानू

सूर्यग्रहण एकटा खगोलीय घटना अछि, जाहिमे चंद्रमा (Moon) कें पृथ्‍वी (Earth) आ सूर्य (Sun) कें मध्य मे आबि जायत अछि। अहि मे पृथ्‍वी पर चंद्रमा केर छाया (Shadow) परैत अछि। जतय छाया परैत अछि, ओतय आंशिक रूप सं अन्हार भ’ जायत अछि।

ज्‍योतिषाचार्य केर दावा- सूर्यग्रहण कें बाद कोरोना सं राहत

पटना कें ज्योतिषाचार्य डॉ. राजनाथ झा कें अनुसार आइ कें सूर्यग्रहण कें बाद कोरोनाक महामारी सं राहत मिला लागत। हुनकर अनुसार 26 दिसंबर 2019 कें सूर्यग्रहण कें दौरान ग्रह केर बिगड़ल स्थिति कें प्रभाव सं अखन धरि बहुत प्राकृतिक आपदा आयल अछि। सामाजिक-राजनीतिक उथल-पुथल केर घटना सेहो भेल अछि। ई सूर्यग्रहण कें बाद एकरा सं मुक्ति कें योग बनल अछि। मिथुन राशि मे ग्रहण लगबाक आ 25 सितंबर क’ राशि परिवर्तन कें बाद प्राकृतिक आपदा मे कमी, बहुत तरहक समस्या मे विशेष लाभ कें योग बनत।