प्रवासी मजदूरक रेल किराया पर बिहार सरकार नीक फैसला लेलक अछि. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहलनि जे अन्य राज्य सं श्रमिक स्पेशल ट्रेन सं आपस आबयबला मजदूर केर किरायाक राशि प्रदेश सरकार आपस क’ देत. एहि लेल हुनका प्रशासन दिस सं बनाएल गेल क्वारनटीन सेंटर पर 21 दिन क्वारनटीन मे रहय पड़त.

मुख्यमंत्री कहलनि, क्वारनटीन केर अवधि पूर्ण भेला कें बाद किरायाक टाका वापस लेबय लेल मजदूर कें टिकट देखाबय पड़त. ओ कहलनि जे सरकार ई  सुनिश्चित करत जे क्वारनटीन केर अवधि पूर्ण भेला कें बाद प्रत्येक श्रमिक कें कम सं कम एक-एक हजार रुपया मिलत.

सीएम नीतीश कुमार कहलनि, ‘हम बिहारक लोक कें वापस भेजबाक सुझाव पर विचार करबा लेल केंद्र कें धन्यवाद करए चाहैत छी. अन्य राज्य मे फंसल  बिहारक लोक कें वापस बिहार भेजबा लेल केंद्र कें शुक्रिया. हुनका लेल अतय क्वारनटीन सेंटर बनायल गेल अछि.’

सीएम नीतीश कुमार कहलनि, ‘बाहर सं आयल सभ प्रवासी 21 दिन लेल क्वारनटीन सेंटर मे रहत. एकरा लेल हर प्रखंड मुख्यालय पर क्वारनटीन सेंटर बनाएल गेल अछि. जतय रहनाइ आ खेनाइ केर पूर्ण इंतजाम कएल गेल अछि. राज्य सरकार 19 लाख लोक कें पहिनहि एक-एक हजार रुपया देने छल.’