बिहार कें आईएएस नवीन चौधरी बनला जम्मू कश्मीर कें पहिल स्थायी निवासी, की अछि डोमिसाइल कें नियम

जम्मू-कश्मीर सं अनुच्छेद 370 कें खत्म होबाक बाद ओतय बदलाव देखबाक मिल रहल अछि। ओतय प्रवासि क’ डोमिसाइल देबाक प्रक्रिया सेहो शुरू भ’ गेल अछि, जाहिमे बिहार कें रहय वला आईएएस ऑफिसर नवीन चौधरी क’ जम्मू-कश्मीर कें पहिल डोमिसाइल सर्टिफिकेट द’ देल गेल अछि।

जम्मू-कश्मीर सं अनुच्छेद 370 कें खत्म होबाक बाद ओतय बदलाव देखबाक मिल रहल अछि। ओतय प्रवासि क’ डोमिसाइल देबाक प्रक्रिया सेहो शुरू भ’ गेल अछि, जाहिमे बिहार कें रहय वला आईएएस ऑफिसर नवीन चौधरी क’ जम्मू-कश्मीर कें पहिल डोमिसाइल सर्टिफिकेट द’ देल गेल अछि।

नवीन चौधरी वर्तमान मे जम्मू शहर मे रहैत छथ आ ओ राज्य सरकार कें एग्रीकल्चर विभाग मे कमिश्नर सेक्रेटरी पद पर कार्यरत छथ। चौधरी दूसर राज्य सं आबय वला एहन पहिल कर्मचारी छथ, जिनका राज्यक स्थायी निवासी बनाओल गेल अछि।

नवीन चौधरी बिहारक दरभंगा जिला कें रहय वला छथ, किछू दिन पहिने ओ जम्मू कें बाहू तहसीलदार कार्यालय मे डोमिसाइल सर्टिफिकेट कें लेल आवेदन देने छला। सर्टिफिकेट जम्मू-कश्मीर ग्रांट डोमिसाइल सर्टिफिकेट (प्रोसिजर) रूल्स 2020 कें नियम 5 कें तहत बाहू तहसील कें तहसीलदार रोहित शर्मा, नवीन चौधरी क’ डोमिसाइल सर्टिफिकेट जारी केलनि।

जम्मू-कश्मीर मे डोमिसाइल कें नियम

अहि कानून क’ हाल ही मे जम्मू-कश्मीर मे लागू कराओल गेल छल, जाकर तमाम संगठन विरोध सेहो केने छल। ओहि लोक क’ स्थायी निवासी कें रूप मे मान्यता देल गेल छल जे 15 साल सं जम्मू-कश्मीर मे रहि रहल होय आ जे लोक ओतय सात साल तक पढ़ाइ केने होय आ अहि राज्य कें स्कूल मे 10वीं एवं 12 केर परीक्षा सेहो देने होय। राज्य कें अहि अधिवास कानून क’ केंद्र सरकारक कैबिनेट मंजूरी सेहो देने छल।