पटना एम्स (AIIMS Patna) पूर्ण तरहे सं कोविड-19 डेडिकेटेड अस्पताल बैन गेल अछि। आब अतय सिर्फ कोरोना संक्रमितक इलाज कयल जायत। राज्य सरकारक स्वास्थ्य विभाग कोविड अस्पातल बनेबाक एम्स प्रशासन कें प्रस्तावक अनुशंसा क’ देने अछि । स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय सेहो प्रस्तावक अनुमोदन क’ देने छथि। सरकार कें अपर सचिव कौशल किशोर अहि संबंध मे एम्स अधीक्षक क’ आदेश जारी क’ देने छथि। एम्स निदेशक क’ सेहो जानकारी द’ देल गेल अछि।

अहि बीच, राज्य सरकार कोरोना कें बढ़ैत मरीज क’ देखैत राज्य कें सभ’ मेडिकल कॉलेज अस्पताल मे कोरोना पीड़ित कें इलाज करबाक निर्णय लेने अछि। स्वास्थ्य विभाग कें प्रधान सचिव उदय सिंह कुमावत शुक्रदिन क’ तीन कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल एनएमसीएच, एएनएमसीएच गया आ जेएलएनएमसीएच, भागलपुर क’ छोइर अन्य सभ’ 6टा सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पतालक प्राचार्य आ अधीक्षक क’ अहि संबंध मे निर्देश देलनि।

ओतय, अपन पत्र मे अपर सचिव कोविड अस्पताल बनेलाक बाद एम्स मे भर्ती अन्य बेमारि सं पीड़ित मरीजक संख्या मे कमी लेबाक सेहो अनुरोध केलनि। अहि संबंध मे स्वास्थ्य मंत्री कहलनि जे मरीज कें बढ़ैत संख्या क ‘ देखैत अहि संबंध मे एम्स प्रशासन कें संग पूर्व मे चर्चा भेल छल। ओकरा बाद एम्स प्रशासन द्वारा एम्स क’ कोविड डेडिकेटेड अस्पताल बनेबाक प्रस्ताव देल गेल छल। अहि प्रस्तावक मंजूरी दैत विभाग कें अधिकारि क’ जरूरी कार्रवाइ कें लेल निर्देशित क’ देल गेल अछि।